Important facts about the Indian Constitution भारतीय संविधान के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

General knowledge quiz, Political and India Constitution 0 Comments

Important facts about the Indian Constitution भारतीय संविधान के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

संक्षिप्त परिचय

 42वे संशोधन से पूर्व भारत के संविधान (Constitution )की प्रस्तावना भारत का संविधान (Constitution ) विश्व के किसी भी गणतांत्रिक देश का सबसे लंबा लिखित संविधान (Constitution ) है। इसमें अब 465 अनुच्छेद, तथा 12 अनुसूचियां हैं और ये 22 भागों में विभाजित है। परन्तु इसके निर्माण के समय (Time) मूल संविधान (Constitution )में 395 अनुच्छेद, जो 22 भागों में विभाजित थे इसमें केवल 8 अनुसूचियां(Schedules) थीं। संविधान (Constitution )में सरकार के संसदीय स्‍वरूप की व्‍यवस्‍था (the arrangement) की गई है जिसकी संरचना(Structure)कुछ अपवादों के अतिरिक्त संघीय है। केन्‍द्रीय कार्यपालिका (The executive)का सांविधानिक (Constitutional)प्रमुख राष्‍ट्रपति है। भारत के संविधान की धारा 79 के अनुसार, केन्‍द्रीय संसद की परिषद् में राष्‍ट्रपति(President) तथा दो सदन है जिन्‍हें राज्‍यों की परिषद (Council) राज्‍यसभा तथा लोगों का सदन लोकसभा (Lok Sabha)के नाम से जाना जाता है। संविधान की धारा 74 (1) में यह व्‍यवस्‍था की गई है कि राष्‍ट्रपति की सहायता करने तथा उसे सलाह देने के लिए एक मंत्रिपरिषद(Council of Ministers) होगा जिसका प्रमुख प्रधानमंत्री(pm) होगा, राष्‍ट्रपति इस मंत्रिपरिषद(Council of Ministers) की सलाह के अनुसार अपने कार्यों का निष्‍पादन(Performance) करेगा। इस प्रकार वास्‍तविक कार्यकारी (The executive)शक्ति मंत्रिपरिषद् में निहित है जिसका प्रमुख प्रधानमंत्री है जो वर्तमान में नरेन्द्र मोदी हैं। मंत्रिपरिषद सामूहिक रूप से लोगों के सदन (लोक सभा) के प्रति उत्तरदायी है। प्रत्‍येक राज्‍य में एक विधानसभा(Assembly) है। जम्मू कश्मीर, उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, कर्नाटक और आंध्रप्रदेश(Andra Pradesh) में एक ऊपरी सदन है जिसे विधानपरिषद(Legislative Assembly) कहा जाता है। राज्‍यपाल (Governor) राज्‍य का प्रमुख है। प्रत्‍येक राज्‍य का एक राज्‍यपाल (Governor) होगा तथा राज्‍य की कार्यकारी (Executive)शक्ति उसमें विहित होगी। मंत्रिपरिषद, जिसका प्रमुख मुख्‍यमंत्री है, राज्‍यपाल को उसके कार्यकारी(Executive) कार्यों के निष्‍पादन में सलाह देती है। राज्‍य की मंत्रिपरिषद् सामूहिक (Collective)रूप से राज्‍य की विधान सभा के प्रति उत्तरदायी है। संविधान की सातवीं अनुसूची(Schedule) में संसद तथा राज्‍य विधायिकाओं (Legislatures)के बीच विधायी शक्तियों का वितरण किया गया है। अवशिष्‍ट शक्तियाँ संसद में विहित हैं। केन्‍द्रीय प्रशासित भू-भागों को संघराज्‍य क्षेत्र कहा जाता है।

(1) India’s constitution was passed on 26 November 1949 and the entire Constitution came into force on 26 January 1950 भारत ने संविधान  को 26 नवम्बर 1949 को पारित किया था तथा सम्पूर्ण संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ

(2)Father of Indian Constitution Dr. Kar Kambedkr called B R Ambedkar. भारतीय संविधान का पिता डॉ बी .आर .अम्बेडकर को कहा जाता है

(3) Article 465 of the Constitution is currently 12 schedules वर्तमान संविधान  465 अनुच्छेद तथा 12 अनुसूचियां है

(4) The first meeting of the Constituent Assembly took place on December 9, 1946 संविधान  सभा की प्रथम बैठक 9 दिसम्बर 1946 को हुई थी

(5) 2 years 11 months 18 days in the making of the Constitution संविधान  के निर्माण में 2 वर्ष 11 महीने 18 दिन का समय लगा था

(6) The Constitution of India is divided into 22 parts भारतीय संविधान  22 भागों में विभाजित है

(7) The last meeting of the Constituent Assembly took place on November 24, 1949 संविधान  सभा की अन्तिम बैठक 24 नवम्बर 1949 को हुई थी

(8) The Constitution of India is the world ‘s longest written constitution भारतीय संविधान  विश्व का सबसे लम्बा लिखित संविधान है

(9) Temporary and permanent president of the Constituent Assembly President Dr. Rajendra Prasad Sinha Satchidananda was appointed संविधान  सभा के अस्थाई अध्यक्ष डॉ सच्चिदानंद सिन्हा तथा स्थाई अध्यक्ष डॉ राजेंद्र प्रसाद को नियुक्त किया गया था

(10) Dr. BR Ambedkar is considered the father of Indian Snvidha because headed by Dr. BR Ambedkar, the Indian draft Constitution was formed भारतीय संविधा का जनक डॉ भीमराव अम्बेडकर को माना जाता है क्यूंकि डॉ भीमराव अम्बेडकर की अध्यक्षता में ही भारतीय संविधान के प्रारूप का निर्माण हुआ था

(11) India 22 March 1957, the government aims adopted national calendar Indian national calendar based on the Saka Era भारत ने सरकारी उद्देश्य के लिए 22 मार्च 1957 को राष्ट्रीय पंचांग को अपनाया भारतीय राष्ट्रीय पंचांग शक संवत पर आधारित है

(12) The final session of the Constituent Assembly was born January 24, 1950 संविधान  सभा का अंतिम अधिवेशन 24 जनवरी 1950 को हुआ था

(13) The Constituent Assembly had adopted 22 July 1947 , the draft national tricolor flag संविधान  सभा ने राष्ट्र ध्वज तिरंगा का प्रारूप 22 जुलाई 1947 को अपनाया था

(14) January 24, 1950 , the Constituent Assembly composed by Rabindranath Tagore in the public mind gun was accepted as the national anthem of India 24 जनवरी 1950 को संविधान  सभा में रविन्द्र नाथ टैगोर द्वारा रचित जन-गन-मन को भारत के राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार किया गया था

(15) Bankim Chandra Chatterjee composed by Vandemataram India 24 January 1950 was adopted as the national anthem बंकिम चन्द्र चटर्जी द्वारा रचित वन्देमातरम भारत के राष्ट्रगीत के रूप में 24 जनवरी 1950 को अपनाया गया था

(16) Constituent Assembly on 26 January 1950 of the Ashoka Pillar at Sarnath Cities Anukrti recognized as a national mark 26 जनवरी 1950 को संविधान  सभा ने सारनाथ स्तिथ अशोक स्तम्भ के शीर्ष की अनुक्रती को राष्ट्रीय चिह्न के रूप में स्वीकार किया

More click Here:भारतीय संविधान संबंधित महत्वपूर्ण सवाल

अगर आप फेसबुक से जुड़े हैं और प्रतिदिन कैरियर, कम्पटीशन ; (BANK, CIVIL SERVICES, SSC, MBA, RAILWAY and OTHEREXAM.) करेन्ट अफेयर्स,जेनरल नॉलेज और जॉब से सम्बन्धित प्रतिदिन जानकारी चाहते हैं, तो आप FRIEND REQUESTअथवा FOLLOW करे।
http://www.gkshort.in or
http://www.shriramedu.com
अपने सामान्य ज्ञान को बढाने हेतु श्रीराम कोचिंग के पेज को लाईक करें—अधिक प्रश्नो एवं सामान्य ज्ञान के सर्वोत्तम संकलन हेतु अभी इस पेज को अपनी पसंद में जोङें।www.facebook.com/shriramedu or https://www.facebook.com/Gkshort-hindi-GK-1319303558087630/
Share with your friends………श्रीराम कोचिंग, सीकर

 

 

 

 

Share with your friends and write your comments
इस पोस्ट को देख कर अपना कमेन्ट अवश्य लिखें